माँ बगलामुखी मंदिर

वर्षों पूर्व स्थापित हुआ माँ बगलामुखी मंदिर.....

                   शत्रुओं का नाश करने वाली माता बगलामुखी का मंदिर कच्ची सराय रोड स्थित है | नवरात्र हो या आम दिन यहाँ तांत्रिकों का मेला लगा रहता है| मंदिर में स्थापित माता की मूर्ति अष्टधातु की है जो दस भुजा स्वरुप में पञ्च प्रेतासन पर विराजमान है एवं श्रद्धालुओं को अपनी ओर आकर्षित करती है |इस मंदिर की स्थापना की कहानी काफी दिलचस्प है | यहाँ के महंत अजित कुमार प्रसाद के पूर्वजों ने इस मंदिर की स्थापना वर्षों पूर्व में की थी| माँ बगलामुखी कि मूर्ति के ठीक नीचे "सहस्त्र दल महायंत्र" स्थापित है |इस यन्त्र पर १०८ महाविद्याओं कि साधना कि जाती है | महंत बताते है की इस यन्त्र के कारण लोगों की कामना पूरी होती है एवं इसके दर्शन मात्र से मनुष्य का भाग्य बदल सकता है | नवरात्र में यहाँ देशभर से दर्जनों तांत्रिक साधना के लिए यहाँ जुटते हैं |

                   प्रसाद परिवार वैशाली के महुआ आदलपुर से मुजफ्फरपुर आया था | माता बगलामुखी इस परिवार की कुलदेवी थी और माता की असीम कृपा इस परिवार पर थी | प्रसाद परिवार के मुखिया रूपल प्रसाद वर्तमान में जहाँ मंदिर है, वहा घरेलु रूप से माँ की पूजा करते थे | महंत अजित कुमार बताते है की करीब ढाई सौ वर्ष पूर्व उनके परदादा रूपल प्रसाद ने ही मंदिर की स्थापना की थी | स्थापना के पूर्व रूपम प्रसाद ने कलकत्ता के तांत्रिक भवानी मिश्रा (गया निवासी) से गुरुमंत्र लिया| उन्ही की प्रेरणा से इसकी स्थापना हुई | मूर्ति का निर्माण कलकत्ता के कारीगरों ने किया |

                   मंदिर के वर्तमान स्वरुप की नीव वर्ष १९९३-९४ के बीच महंत अजित कुमार ने रखी | माँ कमला देवी से माता की साधना सीखी | उन्होंने वाम मार्ग व दक्षिण मार्ग से मंदिर में तांत्रिक चेतना जागृत की | धीरे धीरे तांत्रिक शक्तियों के कारण लोगों की आस्था इस मंदिर में बढ़ी और भीड़ जुटने लगी | इस मंदिर में माँ त्रिपुर सुंदरी और माँ तारा की मूर्ति २००४ और बाबा भैरव की मूर्ति २००६ में स्थापित हुई | माँ त्रिपुर सुंदरी कि मूर्ति के ठीक नीचे "श्री यन्त्र " स्थापित है एवं माँ तारा जो नील सरस्वती स्वरुप में विराजमान है उनकी मूर्ति के ठीक नीचे "६४ दलयंत्र" स्थापित है.

                   कच्ची सराय रोड स्थित माँ बगलामुखी मंदिर जन आस्था का पवित्र केंद्र है | दुखों, संकटों और द्वंदों से मुक्ति के लिए श्रद्धालु आस्था से वशीभूत होकर यहाँ आते है और माँ बगलामुखी की पूजन करते है | माँ बगलामुखी सहस्त्रदल यन्त्र श्री विद्या यन्त्र के साथ यहाँ स्थापित है | हर गुरुवार को यहाँ काफी भीड़ जुटती हैं | माता को दही, हल्दी एवं दूभ चढाने से वो प्रसन्न होती हैं | चैत्र और शारदीय नवरात्र के अवसर पर यहाँ साधकों और उपासकों का तांता लगा रहता है | दोनों नवरात्रों के समय बिहार व अन्य राज्यों से सिद्धि प्राप्ति के लिए तांत्रिकों का जमावड़ा यहाँ लगता है |

समय सारणी

मंदिर खुलने का समय

सुबह ७ बजे से १२:०० बजे तक एवं संध्या ४:०० से रात्रि १०:३० बजे तक

आरती

सुबह ७ बजे,संध्या ७ बजे एवं रात्रि १० बजे


  हमारा पता
श्री गरीबनाथ मंदिर

गरीब नाथ धाम रोड
मुजफ्फरपुर (बिहार)

  संपर्क सूत्र
हेल्प लाइन दूरभाष

मोबाइल: 9471899999
इमेल: garibnathdham.in@gmail.com
support@garibnathdham.in

  समय-सारणी

मंदिर खुलने का समय : प्रातः - 4 बजे से दोपहर 12 बजे तक
दोपहर - 2:30 से रात्रि 10 बजे तक
आरती - प्रातः 5 बजे एवं रात्रि 9 बजे